Tag:

रोमियों 12:1-5




रोमियों 12:1-5
 Roman 12:1-5

परमेश्वर इस वचन के अनुसार हमें कहते हैं कि हम अपने मन को स्थिर करें। सांसारिक गतिविधियों के अनुसार अपने आप को ढालना बंद करें। मन को जाँचें परखें और नयी दिशा दें। नयी सोच समझ के साथ परमेश्वर कि योजना मे सहभागी बनें
कोई अपने आप को बढ़ कर ना समझें और न ही अधिक बुद्धिमान समझे, वरन परमेश्वर के वचनो के अनुसार चलनेवाले और आज्ञा मानने वाले बनें।

जिस प्रकार हमारे शरीर के हर अंग एक जैसे काम नही करते, वैसे ही हर एक मनुष्य के मन और विचार अलग हैं, पर हमें विभिन्नता में भी एक साथ परमेश्वर पर बनें रहना है, जैसे हमारे शरीर के विभिन्न अंग एक-दूसरे से जुड़े हुवे हैं। 

 परमेश्वर इस छोटी शिक्षा पर बहुतायत से आशीष दे 

॥ आमीन ॥

मेरे बारे में Naveen Minj

यीशु के मधुर नाम में आप सभी को मेरी ओर से प्यार भरा यीशु सहाय | मेरा नाम नवीन कुमार मिंज है | मैं नॉर्थ वेस्टर्न जी ई एल कलीसिया के तोलमा पेरिश के हाटी मंडली का सदस्य हूँ | मेरी व्यक्तिगत सामाजिक गतिविधियों में रुचि नें इस वेबसाइट को प्रकाशित करने हेतु प्रेरित किया | सेवकाई के कार्य को अलग रूप व आज के परिवेश में साथ लेकर चलना ही इस वेबसाइट का मुख्य उद्देश्य होगा | धन्यवाद

 

Headlines

* गोलिडीह पेरिश मुख्यालय में 12वें डिनरी स्तरीय युवा सम्मेलन वर्ष 2019 सफलतापूर्वक संपन्न हुआ| * मिनी समर क्लास में बच्चों नें दिया दस्तक| * कुनकुरी पेरिश में वार्षिक संयुक्त सम्मेलन 10 मई शाम से 12 मई 2019 तक| * 36वां पेरिश स्तरीय युवा संघ बाइबिल क्लास 2019, स्थान - कोरबा पेरिश मुख्यालय, सफलतापुर्वक संपन्न हुआ| * सरहापानी पेरिश में महिला संघ सम्मलेन वर्ष 2019 संपन्न हुआ|